Latest Post

School Leaving Certificate Application in Hindi – स्कूल छोड़ने के प्रमाण पत्र के लिए आवेदन हिंदी में Formal Informal Letter Writing in Hindi | Hindi Patra Lekhan Anopcharik Patra Format Bank Account Close Application in Hindi – बैंक खाता बंद करवाने का एप्लीकेशन फॉर्मेट Bank Account Transfer Application in Hindi – बैंक खाता स्थानांतरण आवेदन हिंदी में

What is Pollution in Hindi? (प्रदूषण क्या है हिंदी में?)

Pollution essay in Hindi प्रदूषण एक बड़ी समस्या है। यह हमारे प्राकृतिक जीवन को बहुत बुरी तरह प्रभावित करता है। आज प्रदूषण हमारे जीवन में ही कई बीमारियों का कारण है। जब अवांछनीय तत्व हवा, पानी, मिट्टी आदि में घुलकर इसे इतना गंदा कर देते हैं कि यह स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डालने लगता है, तो इसे प्रदूषण कहते हैं। प्रदूषण प्राकृतिक असंतुलन पैदा करता है। साथ ही यह मानव जीवन के लिए खतरे की घंटी भी है। यदि पर्यावरण प्रदूषित है, तो सभी प्रकार के मनुष्यों और जानवरों की वनस्पति सीधे प्रभावित होती जाएगी। पर्यावरण में हानिकारक पदार्थों का मुख्य स्रोत प्रदूषण है। मानव उत्सर्जन, कारखाने के माध्यम से उत्पादित वस्तुओं की बर्बादी जैसे प्राकृतिक स्रोतों पर भी प्रदूषण होता है, जो जल वायु को नुकसान पहुंचाता है, और भूमि प्रदूषण। लोगों को प्रदूषण के खतरों के बारे में जागरूक किया जाना चाहिए।

Causes of Pollution – (प्रदूषण के कारण)

आज हम बहुत प्रदूषण फैला रहे हैं। जैसे कि बाइक, कार, उद्योग, और बहुत कुछ, पाइप से निकलने वाली गंदी हवा, बिजली बनाने के लिए कोयले का उपयोग, गैस पैदा करने वाला वायु प्रदूषण, उद्योग, कारखाने और घरेलू कचरा जो भूमि और पानी को प्रदूषण का कारण बनता है। रासायनिक जहर खरपतवारों को मारते हैं और कीड़े भी जलमार्गों में रिसते हैं और वन्यजीवों को नुकसान पहुँचाते हैं।

देखा जाए तो आज हमारे देश में कई तरह के प्रदूषण मौजूद हैं, जिनमें सबसे आम प्रदूषण है जैसे:

  • Air pollution – (वायु प्रदूषण)
  • Water pollution – (जल प्रदूषण)
  • Plastic Pollution – (प्लास्टिक प्रदूषण)
  • Environmental Pollution – (पर्यावरण प्रदूषण)
  • Soil Pollution – (मृदा प्रदूषण)
  • Noise Pollution – (ध्वनि प्रदूषण)

1.  Air Pollution Essay in Hindi – (वायु प्रदूषण निबंध हिंदी में)

वायु प्रदूषण मुख्य रूप से कारखानों, उद्योगों, धुएं और मोटर कार, धूम्रपान और अपशिष्ट जलाने के कारण होता है। मिलों और फैक्ट्रियों से लगातार निकलने वाले धुएं से हवा भी प्रदूषित हो रही है। निश्चित रूप से वायु प्रदूषण ने हमारे स्वास्थ्य को प्रभावित किया है, यह कई प्रकार की बीमारियों जैसे अस्थमा, खांसी और अन्य फेफड़ों के रोगों का कारण बनता है।

2.   Water Pollution Essay in Hindi – (जल प्रदूषण निबंध हिंदी में)

जल प्रदूषण हमें अपने अस्तित्व के लिए जल की आवश्यकता होती है। लेकिन दुर्भाग्य से, यह पानी विभिन्न तरीकों से प्रदूषित हो रहा है। यह सभी के लिए गंभीर चिंता का विषय है। कारखानों से निकलने वाले रासायनिक अपशिष्ट और अनुपचारित सीवेज पानी को प्रदूषित कर रहे हैं। बिजली संयंत्र और कारखाने गर्म पानी को नदियों और समुद्र में छोड़ते हैं। कृषि भूमि में व्यापक रूप से उपयोग किए जाने वाले कीटनाशकों से पानी प्रदूषित होता है।
कीटनाशकों में नाइट्रेट, कैडमियम, सीसा, तांबा, पारा आदि जैसे प्रदूषक होते हैं, जो जल जनित रोग पैदा करते हैं। आर्सेनिक, एक अन्य प्रदूषक, कारखानों द्वारा छोड़े गए अपशिष्टों में पाया जाता है। फिर से घरों में इस्तेमाल होने वाले डिटर्जेंट जल प्रदूषण का कारण बन सकते हैं। नालों में गंदा पानी डालने और नदियों में डालने से जल प्रदूषण होता है।

3.  Plastic Pollution Essay in Hindi – (प्लास्टिक प्रदूषण निबंध हिंदी में)

प्लास्टिक प्रदूषण आधुनिक जीवन की भयानक समस्याओं में से एक है। आज प्लास्टिक का उपयोग फिल्म, चादरें, कंटेनर, तार, केबल इन्सुलेशन, पाइप, घरेलू सामान, पानी के फिल्टर, कैरी बैग जैसी चीजों को तैयार करने के लिए भी बड़े पैमाने पर प्लास्टिक से किया जाता है। लेकिन हम में से बहुत से लोग यह नहीं जानते हैं कि प्लास्टिक भोजन के साथ प्रतिक्रिया करता है और उसे जहरीला बना देता है। प्लास्टिक के पैकेट और बैग जलीय जंतुओं के जीवन को खतरे में डालते हैं।

4.  Environmental Pollution Essay in Hindi – (पर्यावरण प्रदूषण निबंध हिंदी में)

कीटनाशकों और रासायनिक अपमार्जकों का उपयोग भूमि और वायु को प्रदूषित करता है। ये सब पर्यावरण में संतुलन को नष्ट कर रहे हैं। आज हम ‘ग्लोबल वार्मिंग’ शब्द से परिचित हैं जिसका अर्थ है कि दुनिया भर में हवा, पानी और तापमान गर्म होता जा रहा है। नतीजतन, बाढ़ हमारे अस्तित्व को धो सकती है। अतः वायु प्रदूषण, जल और पर्यावरण प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए चेतना आवश्यक है।

5.  Soil Pollution Essay in Hindi – (मृदा प्रदूषण निबंध हिंदी में)

मृदा प्रदूषण से तात्पर्य उर्वरकों, चूर्णों, कीटनाशकों, वनों की कटाई और औद्योगिक कचरे आदि जैसे जहरीले पदार्थों के अत्यधिक उपयोग से मृदा प्रदूषण होती है।

6.  Noise Pollution Essay in Hindi – (ध्वनि प्रदूषण निबंध हिंदी में)

ध्वनि प्रदूषण के पीछे सामान्य कारण मोटर साइकिल, कारों, विभिन्न प्रकार के उद्योगों, कंपनियों, विमानों और कई अन्य स्रोतों से आने वाला उच्च शोर है जो अनुमेय सीमा से अधिक तक पहुंच जाता है जो ध्वनि प्रदूषण का कारण बनता है।

What Steps Should We Take to Reduce Pollution? – (प्रदूषण कम करने के लिए हमें क्या कदम उठाने चाहिए?)

हमें हमेशा अधिक से अधिक हरे पौधे लगाने पर ध्यान देना चाहिए और अपने आसपास के लोगों को भी बताना चाहिए कि वे पेड़ों को नष्ट न करें, बल्कि उससे अधिक बचाएं।
हमें प्रकृति से कचरे को खत्म करना चाहिए, जो भी भोजन हमारे उपयोग के लिए नहीं है, उसे सही दसवें स्थान पर रखा जाना चाहिए, ऐसी सड़कों पर नहीं फेंकना चाहिए, हमें इन सभी की उचित देखभाल करके कृषि को बचाने की आवश्यकता है।
हमें अपने पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाने के लिए कृषि में अत्यधिक रसायनों, पाउडर, धुएं, कारखानों गैस आदि का उपयोग बंद कर देना चाहिए। हम्मे कुछ बड़े कदम उठाने की जरूरत है ताकि हम प्रदूषण को अत्यधिक होने से रोक सकें।

Conclusion:

हम सभी जानते हैं कि प्रदूषण सबसे बड़े खतरनाक मुद्दों में से एक है जिसका हम पहले और अभी भी सामना कर रहे हैं, यह पूरी दुनिया को प्रभावित कररहा है। वास्तविक तथ्य को नकारा नहीं जा सकता। इसके बजाय, दुनिया में, प्रदूषण के खतरों से एक-दूसरे की रक्षा के लिए हर व्यक्ति को एकजुट होना चाहिए, और हमें जितना संभव हो उतना हवा, पानी, प्लास्टिक, पर्यावरण, मिट्टी और आदि प्रदूषण को खत्म करना चाहिए।

You May Also Read:

DMCA.com Protection Status
error: Content is Protected You Cannot Copy !!